Hind Daily

G20 Summit : क्या है जी 20 समिट , जिसकी मेजबानी भारत कर रहा है

G20 Delhi

G20 Summit:

ग्रुप 20 – जी20, या ग्रुप ऑफ़ ट्वेंटी, एक अंतर-सरकारी मंच है जिसमें 19 देशों और यूरोपीय संघ (ईयू) शामिल हैं। यह वैश्विक अर्थव्यवस्था से संबंधित मुख्य मुद्दों जैसे कि अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता, जलवायु परिवर्तन में कमी और सतत विकास से निपटने के लिए काम करता है।

 

जी20 की स्थापना 1999 में एशियाई वित्तीय संकट के बाद वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नर के लिए एक मंच के रूप में की गई थी, जो वैश्विक आर्थिक और वित्तीय मुद्दों पर चर्चा करते हैं। जी20 देशों के नेताओं की पहली बैठक 2008 में वाशिंगटन, डीसी में वैश्विक वित्तीय संकट के जवाब में हुई थी।

 

जी२० ग्रुप 20 शिखर सम्मेलन हरेक साल आयोजित किया जाता है, और अध्यक्षता अभी सदस्य देशों के बीच घूमती रहती है। वर्तमान में अध्यक्षता भारत के पास है।

 

जी20 को अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग के लिए एक प्रमुख मंच माना जाता है। यह दुनिया के प्रमुख और प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाता है। इसके सदस्य देश मिलकर वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 85%, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का 75% और विश्व की दो-तिहाई जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करते हैं।

 

जी20 को संयुक्त राज्य अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों द्वारा हावी होने के लिए आलोचना की जाती रही है। हालांकि, इसे वित्तीय संकट के दौरान वैश्विक अर्थव्यवस्था को स्थिर करने में मदद करने और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर अंतरराष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए भी श्रेय दिया जाता रह है।

 

जी20 एक जटिल और विकासशील संस्थान है। यह अभी भी बहुत जल्द है कि इसका दीर्घकालिक प्रभाव क्या होगा। हालांकि, यह स्पष्ट है कि जी20 वैश्विक अर्थव्यवस्था को आकार देने में एक अधिक से अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

 

भारत में होने वाले 2023 के जी20 शिखर सम्मेलन में चर्चा किए जाने वाले कुछ प्रमुख मुद्दे हैं:

 

वैश्विक अर्थव्यवस्था: जी20 को यह सुनिश्चित करने के लिए चर्चा करनी होगी कि COVID-19 महामारी से एक मजबूत और टिकाऊ वैश्विक पुनरुद्धार हो।

जलवायु परिवर्तन: climate Change जी20 को जलवायु परिवर्तन को कम करने और इसके प्रभावों के अनुकूल होने के लिए ठोस उपायों पर सहमत होना होगा।

व्यापार: जी20 को मुक्त और निष्पक्ष व्यापार को बढ़ावा देने के तरीकों को खोजने की आवश्यकता होगी।

विकास: जी20 को गरीबी और असमानता को कम करने के बारे में चर्चा करनी होगी।

सुरक्षा :- जी20 को आतंकवाद और अन्य सुरक्षा चुनौतियों के खतरे से निपटना होगा।

 

2023 का जी20 शिखर सम्मेलन जो की दिल्ली में हो रहा है , भारत के लिए वैश्विक मंच पर अपनी क्षमताओं को प्रदर्शित करने का एक बड़ा अवसर है। शिखर सम्मेलन की सफल मेजबानी भारत की छवि और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए एक बड़ा बढ़ावा होगा

G20 Summit

Exit mobile version